Breaking News

बिटकॉइन लगातार क्यों गिर रहा हैं ? why bitcoin price falling in year 2022 ?

why is bitcoin going down 2022|is bitcoin going to crash 2022|bitcoin price,what happened to bitcoin today|why crypto market is down today 2022|when will bitcoin crash again|why crypto market is down today in india|

बिटकॉइन लगातार क्यों गिर रहा हैं ?

पिछले वर्ष  नवम्बर 2021 में सभी क्रिप्टोकरेंसी का मार्केट कैप  3 ट्रिलियन डॉलर से भी अधिक का हो गया था, इसमें के एक तिहाई से भी अधिक का मार्केट शेयर सिर्फ एक क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन का हैं, बिटकॉइन ने भी 10-अक्टूबर-2021 को अपना उच्चतम रु.46,00,000/- लगभग ($63000) तक पहुंचा था, सिर्फ 9 वर्षों में ही बिटकॉइन 100 डॉलर से 63,000 डॉलर तक पहुँच गया |
बिटकॉइन  व् अन्य क्रिप्टोकरेंसी की ऐसी सफलता देख सारे विश्व के बहुत से इन्वेस्टर्स ने क्रिप्टोकरेंसी में भारी निवेश करना शुरु कर दिया हैं,
एक डाटा के अनुसार हमारे देश में भी 10 करोड़ से भी अधिक लोगों ने क्रिप्टोकरेंसी में इन्वेस्ट किया हैं |

बिटकॉइन के अपने रिकॉर्ड उच्चतम स्तर के जाने के बाद से लगातार गिरावट देखने को मिल रही हैं, आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि बिटकॉइन की कीमत लगातार  गिर रही हैं ? why cryptocurrecy price is falling ?

अपनी रिसर्च और डाटा के लिए प्रसिद्ध केम्ब्रिज़ यूनिवर्सिटी के वित्तीय एनालिसिट विंग ने बिटकॉइन के मूल्य के गिरने के 2 महत्वपूर्ण कारण बताये हैं –

1- USA फ़ेडरल बैंक द्वारा कोरोना महामारी के दौरान दिये गए वित्तीय रियायतों को वापिस लेना शुरू कर दिया हैं |

अमेरिका की फ़ेडरल बैंक ने भी हमारे देश के रिज़र्व बैंक की तरह ही देश की अर्थव्यस्था व् लोगों को वित्तीय संकट से उबारने के लिये बहुत से फैसले लिये थे जिनमे टैक्स कटौती, व्यापार कर में छूट, सस्ता कर्ज, कई उत्पादों में छूट, एक्सपोर्ट-इम्पोर्ट ड्यूटी कम करना, कम क्रेडिट स्कोर पर भी लोन, गरीबों व् विधार्थियों के लिए डायरेक्ट कॅश ट्रान्सफर आदि प्रमुख हैं |
इन सभी के लिए USA की फ़ेडरल बैंक ने बहुत सारा पैसा मार्केट में इन्फुज किया था, जिससे पैसों की लिक्विडिटी बढ़ सके, इन्ही पैसों की वजह से बहुत से मिनी इन्वेस्टर बने जिन्होंने क्रिप्टोकरेंसी में इन्वेस्ट किया, क्रिप्टोकरेंसी में सबसे अधिक इन्वेस्टर US के हैं |
अब सरकार ने दी हुयी वित्तीय रियायतों को वापिस लेना शुरू कर दिया हैं जिससे  US में लोगों की सेविंग नहीं हो पा रही हैं और वो क्रिप्टोकरेंसी से अपना पैसा वापिस निकाल रहे हैं |

2-कजाकिस्तान में अस्थिरता के चलते प्रेसिडेंट द्वारा देश के कई हिस्सों में इन्टरनेट और पॉवर सप्लाई बंद करा दी हैं |

पिछले वर्ष चीन द्वारा क्रिप्टोकरेंसी को पूरी तरह से बैन कर दिया था, जिससे बहुत से क्रिप्टोकरेंसी माईनर्स मध्य एशियाई देश कजाकिस्तान में चले गए थे, वैसे कजाकिस्तान में कोयला बहुतायत में होने के कारण यह पॉवर प्लस देश हैं, यहाँ इलेक्ट्रिसिटी निर्बाध रूप से व् बहुत सस्ती मिलती हैं जो क्रिप्टोकरेंसी माइनिंग के लिए बहुत अनुकूल हैं, क्रिप्टोकरेंसी माइनिंग में बिजली बहुत खर्च होती हैं|
पिछले कुछ दिनों से इस देश में अस्थिरता बनी हुयी हैं, सरकार द्वारा कई चीजो की कीमतों में बेतहाशा मंहगाई बढाने के कारण वाहन की जनता सरकार के विरोध में सड़कों पर उतर आयी हैं, इसी विरोध को शांत करने के लिए कजाकिस्तान के प्रेसिडेंट Kassym-Jomart Tokayev ने देश में कई हिस्सों में इन्टरनेट व् पॉवर सप्लाई पर रोक लगा दी हैं |
इन्टरनेट व् पॉवर सप्लाई को रोकने की वजह से अनुमान हैं की 15% से 18 % क्रिप्टोकरेंसी माइनिंग  प्रभावित हुयी हैं, जिससे बिटकॉइन  व् अन्य क्रिप्टोकरेंसी के दाम लगातार गिर रहे हैं |

दोस्तों, आपका हमारा यह लेख कैसा लगा कमेंट में जरूर बताएं |

धन्यवाद्

इन्हें भी पढ़े-

Leave a Reply

Your email address will not be published.

SBI Offers up to Rs 35 Lakh Instant Loan via YONO App hdfc car Loan Rate of Interest 2022